टाइटैनिक जहाज़ से जुड़े अद्भुत रहस्य | Mysterious Facts about Titanic in Hindi

दोस्तों आपने टाइटैनिक मूवी तो देखि ही होगी, टाइटैनिक(Titanic) जहाज़ के बारे में आप सभी को पता ही होगा की कैसे 15 अप्रैल 1912 के दिन एक भारी जहाज़ बर्फ की चट्टान से टकरा कर समुद्र में डूब गया था. उस वक्त टाइटैनिक जहाज़ में करीब 2224 लोग सवार थे जिनमे से लगभग 1500 लोगो ने अपनी जान गवाई थी. इतनी बात तो हम सभी को पता है लेकिन बहुत कम लोग होंगे जिनको टाइटैनिक जहाज़ के टकराव और उसके रहस्य के बारे में पता होगा.

टाइटैनिक जहाज़ से जुड़े अद्भुत रहस्य | Mysterious Facts about Titanic in Hindi
टाइटैनिक जहाज़ से जुड़े अद्भुत रहस्य

आज हम आपको टाइटैनिक जहाज़ से जुड़े अदभुत रहस्य – Mysterious Facts about Titanic in Hindi बताने वाले है. उम्मीद है आपको यह जानकारी बहुत ही पसंद आएगी.

1. Titanic जहाज़ का पूरा नाम RMS – Royal Mail Ship था और इसको बनाने वाली कंपनी का नाम “White Star Line” था.

2. टाइटैनिक जहाज़ करीब 882 फिट लंबा, 115 फिट ऊँचा और 92 फिट चौड़ा था. जिसका वजन करीब 46,328 टन थी. मतलब यह जहाज़ इतना मजबूत था की किसी भी छोटी चट्टान से टकराने से टूट ही नहीं सकता था.

3. टाइटैनिक जहाज़ में एक दिन में 825 टन कोयले का इस्तेमाल होता था जिनमे से हर रोज 100 टन राख बहार निकलती थी.

4. टाइटैनिक जहाज़ को नार्थ आयरलैंड के बेलफ़ास्ट में 31 मार्च 1909 को 3000 हजार लोगो की टीम ने बनाना शुरू किया था जिसका काम कम 26 महीने बाद 31 मई 1911 को खत्म हुआ था. जब यह जहांज बनकर तैयार हो गया था तब इसको देखने के लिए लगभग 1 लाख से भी ज्यादा लोग आए थे.

5. Titanic को बनाने के लिए लगभग 75 लाख डॉलर की लागत हुई थी.

6. टाइटैनिक जहाज़ को बनाते समय लगभग 246 लोगो को चोट आई थी और 5 लोगो की मौत भी हो गई थी.

7. जहाज़ पर हर रोज करीब 63 हजार लिटर पानी पीने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

8. Titanic पर खाने के लिए रोज़ाना 40 हजार अंडे खर्च होते थे.

9. टाइटैनिक जहाज़ पर तीसरी श्रेणी के लगभग 700 से 1000 मुसाफर थे और सभी के बीच सिर्फ 2 ही बाथरूम थे.

10. टाइटैनिक जहाज़ में मौजूद सभी लोगो में John Jacob Astor IV सबसे अमीर इन्सान था. वो मरते समय ना सिर्फ टाइटैनिक जहाज़ में मौजूद लोगो में सबसे अमीर था बल्कि दुनिया का सबसे ज्यादा अमीर इन्सान था. टाइटैनिक जहाज़ में मरते समय उसकी कुल संपति करीब 3.5 बिलियन डॉलर थी.

अटलांटिक समुद्र में से निकली उनकी बॉडी की तपास के वक्त जेब में से 2440 डॉलर पाए गए थे जिसकी मूल्य आज की तुलना में 60 हजार डॉलर होता है.

11. जहाज़ पर करीब 13  कपल एसे थे जो सिर्फ हनीमून मनाने के लिए टाइटैनिक पर आए थे.

12. जब टाइटैनिक जहाज़ डूबा तो उसमे 1500 से भी ज्यादा पुरुष और महिलाओ ने अपनी जान गवाई थी. उस वक्त सारे कुक भी डूब कर मर गए थे. उस वक्त अटलांटिक का पानी -2 डिग्री ठंडा था जिसके कारन सिर्फ 15 मिनट के अन्दर ही इन्सान की मौत हो जाती थी लेकिन चार्ल्स जफिन नामक कुक तक़रीबन 2 घंटे तक जीवित रहा था क्योंकि इसने पानी में डूब ने से पहले ढेर सारी व्हिस्की पि रखी थी.

13. टाइटैनिक जहाज़ की दुर्घटना उत्तर अटलांटिक महासागर में हुई थी और जहाज़ का मलबा ढूंढने में करीब 73 साल लग गए थे. काफी कोशिश के बाद 1 सितम्बर 1985 में जहाज़ का मलबा मिला था.

14. आपको जानकर हैरानी होगी की समुद्र में टाइटैनिक जहाज़ के दो टुकड़े पड़े है और दोनों टुकड़ो के बीच की दूरी लगभग 600 मीटर है.

15. शोधकर्ता आजतक इस बात से सहमत नहीं है की जहाज़ के दो टुकड़े सिर्फ पानी के दबाव के कारण हुआ था लेकिन ज्यादातर लोग यही मानते है की समुद्र की सतह पर से एक ही तरफ दबाव आने के कारन यह जहाज़ दो टुकड़ो में टूट गया होगा.

16. जिस Iceberg की वजह से Titanic डूबा था वह iceberg का टुकड़ा 10 साल पुराना था जो ग्रीनलैंड के एक ग्लेशियर से अलग होकर आया था. यह करीब 100 फिट ऊँचा था. टक्कर के 2 हप्तो बाद यह भी नष्ट हो गया था.

17. ब्रिटन के  जर्नलिस्ट “सलोन मैलानी” ने लगभग 30 साल की रिसर्च से पता लगाया की जिस चट्टान से टाइटैनिक टकराया था उस हिस्से पर 30 फिट तक कला धब्बा पाया गया था. इसके बाद उन्होंने टाइटैनिक की पहेली तस्वीर का अध्ययन किया और पाया की धब्बे वाली जगह का मेटल पहले से ही आग की वजह से कमजोर हो चुका था.

18. ऐसा सिर्फ तभी होता है जब किसी भी मेटल को लगातार 3 हप्तो तक उच्च तापमान में तपाया जाए. मेट्रोलोजी विशेषज्ञो का भी मानना था की उच्च तापमान के कारन धातु करीब 75 प्रतिसद तक कमजोर हो गई थी. इसी कारन से 100  फिट बड़ी चट्टान से जहाज़ टकराते ही इसके अन्दर छेद पड़ गया और जहाज़ डूब गया.

उम्मीद है आपको टाइटैनिक जहाज़ से जुड़े अदभुत रहस्य – Mysterious Facts about Titanic in Hindi आर्टिकल अच्छा लगा होगा. आप नीचे कमेंट करके अपना नजरिया साझा करें