बैंकॉक - रात में अय्याशी का शहर | Amazing facts About Bangkok In Hindi

थाईलैंड टूरिस्ट वेबसाइट का कहना है कि बड़ी संख्या में वैसे भारतीय भी यहां आते हैं जो सेक्स की चाहत मन में संजोए रहते हैं.

बैंकॉक - रात में अय्याशी का शहर | Amazing facts About Bangkok In Hindi

थाईलैंड विदेशी पर्यटन से पैसा कमाने के मामले में इस साल फ़्रांस को भी पीछे छोड़ते हुए दुनिया का तीसरा देश बन गया है. फ़ाइनैंशियल टाइम्स के शोध के मुताबिक़ थाईलैंड को इस मुकाम पर भारतीयों ने लाया है.

यह दक्षिण पूर्व एशिया का एक देश है, जिसे पहले 'सियाम' नाम से जाना जाता था। साल 1948 में इसका नाम बदलकर थाईलैंड रखा गया। हालांकि कुछ लोग (खासतौर पर यहां बसने वाले चीनी लोग) थाईलैंड को आज भी सियाम नाम से ही पुकारना पसंद करते हैं। वैसे तो यह देश बौध धर्म के मंदिरों के लिए प्रसिद्ध है, क्योंकि यहां के 95 फीसदी लोग बौध धर्म के अनुयायी हैं, लेकिन इसके बावजूद यहां आज भी भगवान राम और विष्णु की पूजा होती है। दरअसल, यहां का राजपरिवार अपने आपको भगवान राम के बेटे कुश का वंशज मानते हैं।

फ़ाइनैंशियल टाइम्स का कहना है अगर पर्यटन उद्योग को निकाल दिया जाए तो उसकी अर्थव्यवस्था 3.3 फ़ीसदी की दर से ही आगे बढ़ती. 2018 की पहली छमाही में थाईलैंड की जीडीपी में पर्यटन उद्योग का योगदान 12.4 फ़ीसदी था.

यह थाईलैंड की ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री के बराबर है. द वर्ल्ड ट्रैवेल एंड टूरिज़म काउंसिल का अनुमान है कि थाईलैंड की जीडीपी में घरेलू और विदेशी पर्यटन का योगदान 21.2 फ़ीसदी रहा था.

थाईलैंड के पर्यटन में बूम के पीछे भारत है. भारत के बाद चीन का भी इसमें योगदान है. चीन के कई ऐसे एयरपोर्ट हैं जहां से थाईलैंड जाने में तीन से चार घंटे के वक़्त लगते हैं. पिछले साल 14 लाख भारतीय थाईलैंड गए और यह उसके पहले के साल से 18.2 फ़ीसदी ज़्यादा है.

आख़िर थाईलैंड भारतीयों को इतना क्यों भा रहा है?

नई दिल्ली से थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक जाने में चार से पाँच घंटे का वक़्त लगता है. जो भारतीय अपने देश में फ्लाइट से सफर करते हैं उनके लिए बैंकॉक का किराया भी बहुत ज़्यादा नहीं है. आज की तारीख़ में में आठ से दस हज़ार के किराए में फ्लाइट से बैंकॉक पहुंचा जा सकता है.

थाईलैंड अपने ख़ूबसूरत बीच के लिए जाना जाता है. थाईलैंड के बीच की ख़ूबसूरती भी दुनिया भर के पर्यटकों को आकर्षित करती है. भारतीयों के लिए थाईलैंड से ख़ूबसूरत कोई बीच पास में नहीं है.

नजदीक और सस्ता होने के कारण भी भारतीय थाईलैंड को ख़ूब पसंद करते हैं. भारत का निम्न मध्य वर्ग यूरोप का खर्च वहन नहीं कर सकता है ऐसे में थाईलैंड एक मजबूत विकल्प के रूप में सामने आता है.

थाईलैंड टूरिस्ट वेबसाइट का कहना है कि बड़ी संख्या में वैसे भारतीय भी यहां आते हैं जो सेक्स की चाहत मन में संजोए रहते हैं.

अगर यहां घूमने जाने का प्लान बना रहे हैं तो इस देश की इन 10 दिलचस्प बातों के बारे में जरूर जानें-

1. इस देश में अंडरवियर पहने बिना घर से बाहर निकलना गैरकानूनी है.

2. यहां के लोग अपने शरीर में माथे को सबसे ज्यादा पवित्र अंग मानते हैं.

3. 95 फीसदी थाई लोग बौद्ध धर्म का पालन करते हैं.

4. पूरी दुनिया में पाए जाने वाले जानवरों की प्रजातियों का दसवां हिस्सा थाईलैंड में पाया जाता है.

5. यहां संवैधानिक राजतंत्र है और यहां के लोग भगवान की तरह अपने राजा और रानी की पूजा करते हैं.

6. बैंकॉक दुनिया के सबसे ज्यादा गर्म शहरों में से एक है. यहां का सबसे ज्यादा गर्म महीना अप्रैल होता है. इस महीने में यहां सोंगक्रन त्योहार मनाया जाता  है जो बिल्कुल होली की तरह ही है. लेकिन इसमें रंगों की जगह सिर्फ पानी का इस्तेमाल होता है.

7. रेटिकुलेटेड पाइथन जो लंबाई के हिसाब से दुनिया का सबसे बड़ा सांप है, यहां पाया जाता है.

8. रामाकिन यहां का महाग्रंथ है और यह रामायण का थाई वर्जन है.

9. क्रुंग देवमहानगर अमररत्नकोसिन्द्र महिन्द्रायुध्या महातिलकभव नवरत्नराजधानी पुरीरम्य उत्तमराजनिवेशन महास्थान अमरविमान अवतारस्थित्य शक्रदत्तिय विष्णुकर्मप्रसिद्धि, जी हम कुछ गलत नहीं लिख रहे हैं. यह बैंकॉक का पूरा नाम है. यह पालि और संस्कृत भाषा से आता है.

10. थाईलैंड का मतलब फ्री लैंड होता है. थाईलैंड को पहले सियाम देश के नाम से जाना जाता था. इस देश पर कभी भी किसी का कब्जा नहीं रहा.